गंगा जयंती- लॉकडाउन में मां गंगा अपनी मूल स्वरूप की ओर अग्रसरः जयकिशोर

ganga

गंगा जयंती पर पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण की कामना

अवनीश कुमार सिंह

मुंगेर। गंगा जयंती के अवसर पर गंगा समग्र संगठन की ओर से गुरुवार को एक विशेष समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें लोगों ने अपने घरों में रहकर गंगा जी की पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण की कामना की।

गंगा समग्र के दक्षिण बिहार के सह संयोजक जयकिशोर पाठक ने बताया कि प्रतिवष वैशाख मास के शुल्क पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा जयती मनाई जाती है। इस वर्ष वैश्विक महामारी की वजह लॉकडाउन को देखते हुए लोगों से आग्रह किया गया कि अपने अपने घरों में सुबह 10 बजे से 11 बजे के बीच घी का दीपक जलाकर गंगाजल और घूप और गुड आदि से गंगा जी की आराधना करें। इ

jaikishor

जयकिशोर पाठक, सह संयोजक, गंगा समग्र

सके साथ ही लोगों से से गंगे तव दर्शनात् मुक्ति मंत्र का लोगों ने जाप किया।

उन्होंने बताया कि इस आयोजन में हजारों की संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर बच्चों के साथ संकल्प भी करया गया किसी भी तरह से मां गंगा को प्रदूषित नहीं होने दूंगा। गंगा घाट को पिकनिक स्पॉट नहीं समझूंगा।

गंगा तट पर अच्छा आचरण करूंगा और मां गंगा मुझे शक्ति प्रदान करें।  श्री पाठक ने कहा कि लॉकडाउन ने मां गंगा को निर्मल और कल-कल, छल-छल कर दिया है। इस लॉकडाउन से यह सिद्ध हो गया है कि मानव प्रकृति के साथ-साथ मां गंगा को कितना नुकसान पहुंचा रहा है। आज प्रकृति अपनी मूल स्वरूप की तरफ धीरे-धीरे बढ़ रही है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *