मासिक धर्म स्वच्छ्ता को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता राकेश मिश्र के नेतृत्व में जागरूकता का आयोजन

nin1

इंडिया व्यू ब्यूरो।

देवरिया। विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस के अवसर पर जागरूकता अभियान चलाया गया। जनपद के करीब आधा दर्जन गांवों में महिलाओं को मासिक धर्म के समय स्वच्छ रहने एव इससे जुड़ी भ्रांति के प्रति सचेत किया गया।
इस कार्यक्रम का संयोजन जनपद के सामाजिक कार्यकर्ता राकेश मिश्रा ने किया। करीब हजारों की संख्या में महिलाओं को पैड मुफ्त में वितरण किया गया। कार्यक्रम का आयोजन सृजन फाउंडेशन, लखनऊ और नाइन फाउंडेशन, लखनऊ ज़िन्दगी फाउंडेशन के बैनर तले किया गया।  नाइन पैड की ओर से सेनेटरी पैड्स का फ्री सैम्पल्स भी उपलब्ध कराया गया।
राकेश मिश्रा ने कहा कि पर्चे के माध्यम से मासिक धर्म के दौरान साफ सफाई की जानकारी दी। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि राष्ट्र धर्म से बढकर है मासिक धर्म। मातृ शक्ति के बिना मानव जीवन की कल्पना अधूरी है। और जब मातृ शक्ति का धर्म स्वच्छ नहीं होगा तो स्वस्थ राष्ट्र की बात बेमानी होगी।

 राष्ट्र धर्म से बढकर है मासिक धर्म। मातृ शक्ति के बिना मानव जीवन की कल्पना अधूरी है। और जब मातृ शक्ति का धर्म स्वच्छ नहीं होगा तो स्वस्थ राष्ट्र की बात बेमानी होगी। हम सभी को मिलकर इस मद्दे पर आगे आने होगा।

-राकेश मिश्रा, सामाजिक कार्यकर्ता, देवरिया

श्री मिश्रा ने कहा कि मासिक धर्म दौरान लड़कियां स्कूल आने से बचती हैं। यूनिसेफ के अध्ययन के अनुसार भी ये दखा गया है कि 28% लड़कियां इस दौरान स्कूल नहीं जातीं। ऐसे समाज मे जागरूक करने की जरूरत है।

rakesh ji

स्वच्छता को लेकर लोगों को जागरुक करते श्री राकेश मिश्रा

उन्होंने कहा कि मासिक धर्म को लेकर जागरूकता लाने के लिए खुद पर्चे बाटें और साथ ही वे सरकारी अस्पताल, पुलिस थानों में भी जागर उन्हें इसके प्रति जागरूक करने का अपील किया। जनपद के भटनी, सलेमपुर, लार, देवरिया सदर अस्पताल, महिला पुलिस थाना, हुसड़ी मिश्र गांव आदि जगहों पर इस अभियान को एक साथ चलाया गया।
राकेश ने महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान गंदे कपड़े उपयोग करने पर होने वाली बीमारियों से अवगत करवा और साथ ही उन्हें पीरियड्स के दौरान उपयोग में लाने के लिए सैनेट्री पैड्स उपलब्ध करवाए और आगे भी इसका उपयोग करने के लिए कहा।

nine1

ग्रामीण महिलाओं को पर्चे बांटते श्री राकेश मिश्र

श्री राकेश बताते हैं के वह विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस इन मुद्दों को मुखरता से सबके सामने लाने और इसके लिए सकारात्मक कदम उठाने की दिशा में काम कर रहे हैं और उन्हें पूरा विश्वास है कि समाज महिलाएं पर इसे शर्म नही धर्म मान कर आगे बढ़ रहीं हैं और समाज मे पुरुष भी इसके प्रति महिलाओं को जागरूक कर रहें हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि समाज बदल रहा है लोग मासिक धर्म के प्रति जागरूक हो रहें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *