राष्ट्र ऋषि दत्तोपंत ठेंगड़ी की प्रतिमा संसद में लगाने की मांग उठी

dattopant

इंडिया व्यू के लिए ब्यूरो रिपोर्ट।

किसान संघ के संस्थापक एवं विचारक दत्तोपंत ठेगड़ी की प्रतिमा संसद भवन परिसर में स्थापित करने की आवाज भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सांसद वीरेंद्र सिंह ने लोकसभा में बुलंद की।

लोकसभा में शुक्रवार को शून्य काल के दौरान श्री सिंह ने इस मुद्दे को उठाया। उन्होंने लोकसभा के माध्यम से देश को बताया कि दत्तोपंत ठेंगड़ी दो बार राज्यसभा के सदस्य रहे हैं। स्वदेशी जागरण मंच, भारतीय मजदूर संघ और भारतीय किसान संघ के संस्थापक रहे हैं। प्रतिमा संसद भवन परिसर में स्थापित कर इनके योगदान को याद किया जा सकता है।

उन्होंने पत्रकारों से बताया कि दत्तोपंत ठेंगड़ी इस युग के महान संत, त्यागी, तपस्वी रहे हैं। किसानों के हित की रक्षा के लिए भारतीय किसान संघ की स्थापना की। मजदूरों के हक की लड़ाई के लिए मजदूर संघ की स्थापना की। और आर्थिक साम्राज्यवाद के खिलाफ संघर्ष के लिए स्वदेशी जागरण मंच की स्थापना की। श्री सिंह ने कहा कि उनका पूरा जीवन राष्ट्र को समर्पित था। ऐसे व्यक्तित्व की प्रतिमा संसद भवन परिसर में स्थापित कर उनके कार्यों से राष्ट्र निर्माता की एक नई गाथा लिखी जा सकती है।

दत्तोपंत ठेंगड़ी को राष्ट्र ऋषि के नाम से जाना जाता है। हिन्दू जीवन मूल्यों के आधार पर, गै़र–राजनैतिक और वैचारिक दृष्टि से प्रखर राष्ट्रवादी, इस संत ने आधुनिक भारत के निर्माण में पूरा समय दिया। बाबा साहेब अम्बेडकर जन्म शताब्दी के अवसर पर पुणे में, दिनांक 14 अप्रेल 1983 को सामाजिक समरसता मंच की स्थापना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *