भागती-दौड़ती जिंदगी में इन पांच तरीकों से अवसाद पर पा सकते हैं काबू

depression

इंडिया व्यू ब्यूरो।

नई दिल्ली। आज कल की भागती-दौड़ती जिंदगी में अक्सर लोग छोटी-छोटी बातों से परेशान हो जाते हैं। लोग भौतिक सुख-सुविधा की खातिर अंधीदौड़ में लगे हुए हैं। ऐसे में लोग अवसाद के शिकार हो जाते हैं। इसके लिए सबसे जरुरी है कि इन परिस्थितियों में तुरंत चिकित्सक से सलाह लें। इसके साथ ही कुछ इन बिंदुओं को अपनाकर अवसाद से निपटा जा सकता है।

-सहानुभूति और दया ऐसे समय के लिए खाद-पानी का काम करती है। इसलिए हमेशा इस उसूल पर कायम रहें कि दुख की वजह चाहे कितनी ही बड़ी क्यों न हो पर उसकी भरपाई के लिए हमें दूसरों से दया और सहानुभूति हासिल करने की उम्मीद नहीं रखनी चाहिए।

-किसी भी मुश्किल के लिए अपने मन में लाचारगी का भाव न आने दें। अपने मन में हमेशा ऑल इज वेल वाली सोच रखें।

-जब भी हलकी उदासी की आहट सुनाई दे, उसी वक्त उसका असली कारण ढूंढ कर उसे दूर करने की कोशिश करें। अगर कारण समझ न आए तो अपनी नीरस दिनचर्या में अचानक कोई बदलाव लाएं। बिना किसी प्लैनिंग के कहीं आसपास घूमने निकल पड़ें या किसी करीबी दोस्त को अपने घर पर बुला लें।

-जब मन उदास हो तो उदासी भरे संगीत और साहित्य से दूर रहने की कोशिश करें। हलके के बजाय चटख गहरे रंगों के कपड़े पहनें, अगर पसंद है तो थोड़ा मेकअप करें, अपनी हेयर स्टाइल चेंज करें और अपने घर के इंटीरियर में बदलाव लाएं।

-अगर कुकिंग का शौक है तो किचन में हाथ आज़माएं और कुछ नया बनाने की कोशिश करें, बागवानी करें, शाम को किसी पार्क में घूमने जाएं, बच्चों के साथ वक्त बिताएं। यकीन मानिए ऐसी छोटी-छोटी बातें भी बहुत जल्दी आपको तनावमुक्त कर देंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *