ये शख्स क्यों करते हैं घंटी बजाकर संसद भवन की चौकीदारी

ganesh das sansad bhavan

ऩई दिल्ली से मणिकांत की रिपोर्ट।

जब सरकार आपकी मांग नहीं सुनती है, तो इंसान कुछ भी कर गुजरने पर विवश हो जाता है। और अजब-गजब तरीकों से सरकार का विरोध करने लगता है।

इसी तरह बंगाल का करने वाला गणेश दास नाम का व्यक्ति संसद भवन के बाहर घंटी बजाकर सरकार तक अपनी बात पहुंचा रहा है।

दिल्ली में घंटी बजाकर विरोध करने से पहले गणेश दास बंगाल में कई वर्षों से चौकीदारी की है। लेकिन, बंगाल सरकार ने सैलरी नहीं दी और बात भी नहीं सुनी गई तो उन्होंने अपनी बात कहने के लिए दिल्ली का रुख कर दिया। अब यहां घंटी बजा कर संसद में रहने वाले नुमाइंदों और सरकार तक अपनी बात रखने की कोशिश कर रहे हैं।

ganesh das sansad bhavan1

अपनी बात पहुंचाने के लिए संसद भवन के बाहर घंटी बजाते गणेश दास

गणेश दास सुबह से शाम तक घंटी बजाते हैं। वे कहते हैं कि मैं चौकीदारी हूं, पेड़ पौधों, चौराहों पर लगी मूर्तियों, संसद भवन, राष्ट्रपति भवन और इस देश का चौकीदारी करता हूं।

श्री गणेश कहते हैं कि 17 जुलाई से रोज घंटी बजा रहा हूं। इसकी हाजरी भी रोज बनाता हूं। इसकी सूचना राष्ट्रपति को भी सूचना देने की भी कोशिश की हैं।

ganesh das sansad bhavan2

17 जुलाई से अपनी हजिरी भी बनाते हैं गणेश दास

अभी हाल ही में तमिलनाड़ू के किसानों ने भी दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध पर प्रदर्शन किया था। उन्होने हर दिन अलग-अलग तरीके से विरोध किया था। वे साथ में नरमुंड लेकर बैठे थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *