भारत के ऋषिकुमारों की आरती से गूंजेगा मॉरीशस का ‘गंगा तलाब’

ganga arti

जय प्रकाश

ऋषिकेश/पोर्ट लुईस। 11वां विश्व हिन्दी सम्मेलन की पूर्व संध्या यानी 17 अगस्त को भारत के ऋषिकुमारों द्वारा मॉरीशस में दिव्य आरती होगी। इसके बाद 18 अगस्त से सम्मेलन की शुरुआत होगी। आरती का आयोजन मॉरीशस स्थित पवित्र गंगा तालाब पर किया गया है। गंगा तालाब के तट पर हनुमान चालीसा और माँ गंगा की आरती होगी।

गंगा आरती समारोह का आयोजन 17 अगस्त , 2018 को सांय 05:30 बजे गंगा तालाब पर किया जाएगा। बताया जा रहा है कि भारत सरकार की संस्था आईसीसीआर ने परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश के स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महराज से आग्रह किया की गंगा तट पर होने वाली दिव्य आरती ऋषिकुमारों के वेद मंत्रों के उद्घोष के साथ ’गंगा तालाब मारीशस’ में भी की जाये । परमार्थ निकेतन के ऋषिकुमारों द्वारा वेद मंत्रों के उद्घोष से 11 वें विश्व हिन्दी सम्मेलन का आगाज गंगा आरती से किया जायेंगा।

इस सम्मेलन में भारत के सभी प्रांतों से तथा विश्व के अनेक देशों से हिन्दी के जाने-माने लेखक, कलाकार, साहित्यकार, कहानीकार, गीतकार सहभाग कर रहे है।

11वां विश्व हिंदी सम्मेलन से जुड़ी खबरें

स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि इस सम्मेलन के माध्यम से पूरा विश्व हिन्दी के महत्व और गौरव को जान पायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि कुछ वर्ष पूर्व गंगा पूजन के अवसर पर भारत की विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज जी परमार्थ निकेतन में आयी थी। उन्होने माँ गंगा की आरती, गंगा पूजन, गंगा माँ को साड़ी अर्पण (चुनरी मनोरथ) आदि संस्कारों से वे अत्यंत प्रभावित हुयीं।

स्वामी जी महाराज के सान्निध्य में स्पेन में सागर के तट पर माँ गंगा की आरती की गयी थी जिसमें चार हजार से अधिक लोगों ने सहभाग किया था। जर्मनी के प्रसिद्ध शहर बर्लिन में भी 6 हजार पांच सौ से अधिक लोगों ने गंगा आरती, योग और गंगा योग किया था। धीरे-धीरे पूरे विश्व में नदियां और सागर के तट पर गंगा आरती का क्रम आरम्भ हो रहा है।

परमार्थ निकेतन परिवार से हिन्दी सम्मेलन में सुश्री गंगा नन्दिनी त्रिपाठी, आचार्य दिलीप क्षेत्री, आचार्य दीपक शर्मा, नरेन्द्र बिष्ट, पुनीत मिश्रा, सुर्यप्रकाश गौड़ एवं अभय पाण्डे शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *