गुरु अपने शिष्य को एक नया जीवन देकर राष्ट्र को समर्पित करता हैः डॉ. एके पांडेय

DSC_0589

इंडिया व्यू न्यूज

गोपालगंज। शिक्षक दिवस के अवसर पर ‘शिक्षाश्री’ सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। जिसमें शिक्षा के क्षेत्र में ‘ऑउट ऑफ द बॉक्स’ योगदान देने के लिए शिक्षकों को सम्मान प्रदान किया गया।  समारोह को संबोधित करते हुए कमला राय कॉलेज के प्रो. (डॉ.) एके पांडेय ने कहा कि जीवन के मूल में गुरु का स्थान होता है। एक माता पुत्र को जन्म देती है। पिता नाम देता है। मगर एक गुरु उसको एक नया जीवन देकर राष्ट्र को समर्पित कर देता है।

उन्होंने कहा कि गुरु के महत्व को इस बात से समझा जा सकता है कि गुरु के स्मरण मात्र से ही शिष्य जिंदगी का अंधियार छटने लगता है। उन्होंने तमाम शिक्षकों एवं अभिभावकों को सजग करते हुए कहा कि बच्चों भविष्य की रचना में आप सभी का अमूल्य योगदान है। आप जैसा करेंगे उसका अनुशरण आपके बच्चें करेंगे। आपके आचार, विचार, व्यवहार एवं वाणी का प्रभाव पड़ेगा। यही जीवन का मूल तत्व है।

वहीं समारोह को संबोधित करते हुए प्राचार्या डॉ. रुखसाना खातून ने कहा कि कहा गुरु के बिना किसी बेहतर जिंदगी की कल्पना नहीं की जा सकती है। एक शिक्षक ज्ञान के आधार पर किसी जीवन को प्रकाशमय कर सकता है। शिक्षक में इतनी ताकत होती है कि वह एक शिष्य ही नहीं बल्कि परिवार, समाज और राष्ट्र निर्माण के लिए अपने आपको झोंक देता है। तमाम आधुनिक संसधानों के बाद भी शिक्षक की महिमा में कमी नहीं आयी है और न ही आएगी। आज के दिन शिक्षकों के ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेवारी है कि वह एक सुंदर समाज की स्थापना करे।

प्रो. संदीप कुमार ने कहा कि गुरु और शिष्य का संबंध इस दुनिया में अद्वितीय है। इतना अटूट बंधन होता है कि शिष्य के बिना बताए गुरु उसकी हर एक इच्छा को जानता और समझता है। किसी बच्चे का भविष्य कोई माता-पिता तय नहीं कर पाते हैं उसका भविष्य उसके गुरु तय करते हैं। एक गुरु ही है जो जीवन के पग-पग पर रास्ता दिखा सकता है।

खुद अभाव में रहकर पूरा जीवन शिक्षा के नाम करने वाले जिले के करीब 15 शिक्षकों को ‘शिक्षाश्री’ सम्मान से नवाजा गया। शिक्षा के क्षेत्र में ‘ऑउट ऑफ द बॉक्स’ योगदान देने के लिए इन्हें यह सम्मान प्रदान किया गया। गुरुवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर ‘शिक्षाश्री’ सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में अतिथि के रूप में कमला राय कॉलेज की प्राचार्या प्रो. (डॉ.) रूखसाना खातून, प्रो. (डॉ.) एके पांडेय, प्रो. (डॉ.) संदीप कुमार, वरिष्ठ शिक्षक वृंदा सिंह व शिक्षक एवं सामाजिक कार्यकर्ता कुंज बिहारी श्रीवास्तव शामिल थे। कार्यक्रम में चार पीढ़ी के शिक्षकों को एक साथ सम्मानित किया गया। बिपीन बिहारी फाउंडेशन और जिंदगी फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में समारोह का आयोजन किया गया था। संचालन जय प्रकाश मिश्र ने किया।

कार्यक्रम का आयोजन कॉलेज के पार्टी जोन हॉल में किया गया था। जिसमें ओम प्रकाश मिश्र, अजेंद्र पांडेय,  अश्विनी गर्ग, समीर तिवारी, सुमन कुमार, राजू प्रसाद सहित अलग-अलग हिस्सों से शिक्षक, प्राचार्य, शिक्षाविद्, सिविल सेवा से जुड़े लोग, पत्रकार, समाजसेवी, अभिभावक एवं छात्र शामिल हुए। इसके साथ ही जीवन में गुरू की महिमा एवं उनके महत्व पर एक बातचीत की गई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *