मैनेजर पांडेय को हिंदी अकादमी का सर्वोच्च सम्मान

mainejar pandey

इंडिया व्यू के लिए ब्यूरो रिपोर्ट।

हिंदी के प्रख्यात आलोचक मैनेजर पांडेय को दिल्ली सरकार का शलाका सम्मान दिया जाएगा। दिल्ली सरकार की हिंदी अकादमी की ओर से वर्ष 2016-17 का प्रतिष्ठित सम्मान प्रदान करने की घोषणा की गई।

हिंदी साहित्य में बेहतर योगदान के लिए उन्हें इस सम्मान से नवाजा जाएगा। पुरस्कार स्वरुप पांच लाख की सम्मान राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। शलाका सम्मान हिंदी अकादमी का सर्वोच्च सम्मान है। इसके साथ ही शिखर सम्मान के लिए नूर जहीर को चुना गया है।

हिंदी आलोचना के क्षेत्र में मैनेजर पांडेय का काफी महत्वपूर्ण योगदान है। शब्द और कर्म, साहित्य और इतिहास दृष्टि, साहित्य के समाजशास्त्र की भूमिका, भक्ति आंदोलन और सूरदास का काव्य, अनभै सांचा, आलोचनाओं की सामाजिकता आदि है।

बिहार के गोपालगंज जिले के लोहठी गांव से हैं। मैनेजर पांडेय का जन्म 23 सितंबर, 1941 को है। जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) में लंबे समय तक अध्यापन का कार्य किए हैं।

One Response to मैनेजर पांडेय को हिंदी अकादमी का सर्वोच्च सम्मान

  1. Rakesh Singh Parmar says:

    ज्ञान के लिए शुभकामनाएं सवीकार करें राकेश सिंह परमार पूर्वांचल समाजनई दिल्ली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *