गोपालगंज के डीएम राहुल कुमार ने साइकिल चलाकर दिया प्रदूषण मुक्ति का पैगाम

rahul kumar sunday cycling

गोपालगंज से ओमप्रकाश की रिपोर्ट।

एक बार फिर बिहार के युवा आईएएस राहुल कुमार ने “ऑउट ऑफ द बॉक्स” काम कर मिसाल पेश की है। प्रदूषण से मुक्ति का पैगाम देने के लिए खुद साइकिल चलायी। रविवार की सुबह अपने साथ सैकड़ों युवाओं की एक टोली का नेतृत्व करते हुए राहुल कुमार ने पर्यवारण की रक्षा शपथ दिलाई। इस पहल की चर्चा चहुंओर हो रही है।

समाज में बदलाव की राह पर चलने वाले युवा आईएएस एवं गोपालंगज के जिलाधिकारी राहुल कुमार ने प्रदुषण की गंभीरता को देखते हुए ‘संडे साइकलिंग’ नाम से शुरू हुई मुहिम का नेतृत्व किया। इस मुहिम में प्रशासन के आला अधिकारी के अलावा शहर के गणमान्य लोगों ने साइकिल चलायी। गोपालगंज क्लब से शुरू होकर शहर के मुख्य मार्ग होते हुए पूरे शहर की यात्रा की। उन्होंने लोगों से साइकिल चलाने की अपील की। इस मुहिम में बच्चों ने भी साथ दिया।

ऑउट ऑफ द बॉक्स काम करने को लेकर होती है चर्चा

-पर्यावरण रक्षा का संदेश

-आईएएस राहुल ने एक बार फिर पेश की मिसाल

-प्रदूषण से मुक्ति का दिया पैगाम

श्री कुमार ने साइकिल चलाकर यह संदेश दिया कि प्रदूषण की इतनी गंभीर समस्या के जिम्मेवार हम सभी खुद हैं और निदान भी हम सभी को ही मिलकर निकालना होगा। साइकिल चलाने से न सिर्फ पर्यावरण की रक्षा कर प्रदूषण की समस्या से निजात मिल सकती है बल्कि मानसिक और शारीरिक विकास में सहायक है। आज जिस तरह से पूरी दुनिया के लिए ग्लोबल वार्मिंग एक बड़ी समस्या बनी हुई है ऐसे में हमारी छोटी-छोटी पहल मददगार साबित हो सकता है।

आज जिस तरह से महानगरों में लोग स्मॉग की समस्या से जुझ रहे हैं और ऐसे में एक आईएएस अधिकारी का खुद साइकिल चलने की मुहिम का हिस्सा बनना। यह दूसरों के लिए प्रेरणा से कम नहीं है। इसकी सोशल मीडिया से लेकर जिले के तमाम लोगों के बीच हो रही है।

rahul kumar ias

जिले के युवाओं से बातचीत करतुे हुुए जिलाधिकारी राहुल कुमार

दरअसल, जिलाधिकारी राहुल कुमार इससे पहले भी कई तरह की सरकारी योजनाओं से इत्तर कई तरह की पहल कर चुके हैं। जिसकी चर्चा इंटरनेशल मीडिया तक में हुई है। चाहें मिड डे मील के खिलाफ फरमान जारी करने बाद खुद खाना खाने का हो या गांवों में रात्रि चौपाल लगाकर लोगों का दुख दर्द जाने की पहल हो।

संडे साइकलिंग के संयोजक राजीव कुमार सिंह का कहना है कि आने वाले समय में हम गर्व से कह सकते हैं कि इस शहर को हम लोगों ने मिलकर प्रदूषण मुक्त शहर बनाया है। जिलाधिकारी राहुल कुमार की हमेशा प्रेरणा रहती है कि आप लोग अच्छा काम करें। मेरा हमेशा सहयोग रहेगा।

वरीय उप समाहर्ता राजीव रंजन सिन्हा, अंजुम आरा मेमोरियल हॉस्पिटल के संस्थापक और जाने माने चिकित्सक डॉ शमीम, डॉ सुमन हॉस्पिटल के निदेशक डॉ विशाल कुमार आदि ने इसका हिस्सा बन लोगों को जागरुक किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *