बिहार में एमए, बीए, बीटेक और एमटेक वाले भी बन सकते हैं गेस्ट टीचर, बीएड, टीईटी की बाध्यता नहीं।

guest teacher bihar

इंडिया व्यू ब्यूरो।

पटना। बिहार में गणित और विज्ञान के खाली सीटों को भरने के लिए एमए, बीए, बीटेक और एमटेक पास भी गेस्ट टीचर के रुप मे बहाल हो सकते हैं। उन्हें बीएड और टीईटी पास होने की बाध्यता नहीं होगी। हालांकि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसटीईटी पास अभ्यार्थियों को पहली वरियता दी जाएगी। वहीं अंग्रेजी के गेस्ट टीचर के लिए बीएड अनिवार्य नहीं होगा।

राज्य के हाई-प्लस टू स्कूलों में गणित और विज्ञान के खाली पद हैं। जिसे भरने के लिए शिक्षा विभाग की ओर से हाई और प्लस टू स्कूलों में 4,257 गेस्ट टीचर बहाल करने की तैयारी करने जा रही है। बहाली की गाइडलाइन जल्द ही जारी की जा सकती है।

सहायक शिक्षकों को प्रति क्लास 1000 रुपये दिये जायेंगे और महीने में अधिकतम 35 हजार रुपये तक की राशि मिल सकेगी। जबकि व्याख्याताओं को प्रति क्लास 800 रुपये दिये जायेंगे, जबकि वे महीने में अधिकतम 30 हजार रुपये उठा सकेंगे।

बताया जा रहा है कि अप्रैल, 2018 से शुरू होने वाले नये सत्र से पहले बहाली प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी।  हाई और प्लस टू स्कूलों में गेस्ट टीचर की बहाली स्कूल के हिसाब से की जाएगी। जिला शिक्षा पदाधिकारी जिले के सभी हाई-प्लस टू स्कूलों से गणित, अंग्रेजी और विज्ञान विषयों के खाली पदों की मांग करेंगे। स्कूलों से सीटों की जानकारी आने के बाद वे डीईओ स्कूलों को बहाली का आदेश देंगे। हर हाई व प्लस टू स्कूल जहां संबंधित विषय के पद खाली हैं, वहां के प्रधानाध्यापकों को बहाली का आदेश दिया जायेगा। इसके बाद प्रधानाध्यापक विज्ञापन और नोटिस जारी कर आवेदन आमंत्रित करेंगे।

बताया जा रहा है कि गाइडलाइन्स में यह भी निर्देश होगा कि आवेदनों के मेधा अंकों के आधार पर शिक्षकों की बहाली हो सकेगी। प्रधानाध्यापक सहायक शिक्षक और व्याख्याता के पद पर गेस्ट टीचर बहाल करेंगे। सहायक शिक्षकों को प्रति क्लास 1000 रुपये दिये जायेंगे और महीने में अधिकतम 35 हजार रुपये तक की राशि मिल सकेगी। जबकि व्याख्याताओं को प्रति क्लास 800 रुपये दिये जायेंगे, जबकि वे महीने में अधिकतम 30 हजार रुपये उठा सकेंगे।

फोटो-साभार।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *