Tag Archives: Kalpana

एक ‘कल्पना’ जिसने एक ‘कल्पना’ को हकीकत में बदला

kalpna

-दिनेश चंद्र पांडेय* कोई अपनी मातृभूमि के लिए काम करे, कोई अपनी मातृभाषा के लिए काम करे या फिर कोई अपनी अपनी सभ्यता या संस्कृति के लिए काम करे। लेकिन, इन सभी से इत्तर यदि कोई दूसरे संस्कृति, भाषा, और