इराक में मारे गए परिजनों के साथ हमेशा था और हमेशा रहूंगाः ओम प्रकाश

om prakash yadav mp

इंडिया व्यू ब्यूरो।

नई दिल्ली/सीवान। लोकसभा सांसद ओम प्रकाश यादव  इराक की घटना पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि मैं इससे व्यथित हूं। इस घटना में मेरे सीवान के दो भाई शामिल हैं। इन परिवारों के लिए मैं हमेशा साथ था और हमेशा रहूंगा। साल 2014 की बात हैं। इराक में फंसे भाइयों के लिए मैं स्वयं मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज जी से मिलकर बात किया था और एक मांग पत्र भी सौंपा था।

सांसद ओम प्रकाश यादव ने इस घटना की जिक्र करते हुए कई बार भावुक हो गए। उन्होंने इंडिया व्यू को सुषमा स्वराज की चिट्टी को दिखाते हुए कहा कि मेरे संसदीय क्षेत्र के संतोष कुमार सिंह जो इराक के मोसुल में फंसे थे। उन्हें भारत वापस बुलाने के लिए 31 जुलाई 2014 को मिला था। और मांग पत्र सौंपा था। जिसके बाद 7 अगस्त 2014 को मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज का पत्र भी प्राप्त हुआ था।

op yadav letter

2014 का पत्र

उन्होंने कहा कि मैं अपने जिले के सभी लोगों के साथ सद्भाव और प्रेम से मिलता हूं। मैं अपने अंतिम सांस तक लोगों की सेवा करुंगा। 39 लोगों में से पांच लोग मेरे जिले से हैं। उनकी दुख की घड़ी में साथ हूं और हमेशा रहूंगा। परिवार के लोगों के लिए केंद्र सरकार से बात करुंगा। परिवार की स्थिति को केंद्र सरकार के सामनें और संसद के माध्यम से देश के सामने रखुंगा।

रअसल, इराक के मोसुल में मारे गए 39 भारतीय लोगों में पांच लोग बिहार के सीवान जिले से हैं।

सीवान जिले के आसपास के जिलों से भारी संख्या में लोग मजदूरी करने के लिए खाड़ी सहित अन्य देशों में गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *