गोपालगंज हादसाः चीनी मिल मालिक और दो बेटों की गिरफ्तारी, मुख्यमंत्री ने संवेदना व्यक्त की

nitish kumar file

इंडिया व्यू ब्यूरो।

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गोपालगंज जिले में सासामुसा चीनी मिल में हुए हादसे के दोषियों पर कार्रवाई के लिए निर्देश दिया है। इस मामले में चीनी मिल के मालिक और उसके दोनों बेटों को गिरफ्तार कर लिया गया है। चीनी मिल के मालिक पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं। घटना में सात मजदूरों की मौत हो गयी है और दर्जन से ज्यादा मजदूर बुरी तरह घायल हुए हैं। घायलों को पीएमसीएच रेफर कर दिया गया है।

नीतीश कुमार ने गोपालगंज जिले के सासामुसा निजी चीनी मिल के बॉयलर फटने से हुये हादसे में मरने वालों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे को अत्यंत दुखद बताया और इस हादसे में मृत लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। मृतकों के परिजनों को 04–04 लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने हेतु आपदा प्रबंधन विभाग को निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने हादसे में घायलों का समुचित इलाज कराने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिया है। साथ ही उनके शीघ्र स्वस्थ होने की ईश्वर से कामना की है।

“मृतकों के परिजनों को 04–04 लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने हेतु आपदा प्रबंधन विभाग को निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने हादसे में घायलों का समुचित इलाज कराने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिया है। साथ ही उनके शीघ्र स्वस्थ होने की ईश्वर से कामना की है।”

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद मिल के मालिक महमूद अली और उनके दोनों बेटों को गिरफ्तार कर लिया गया है जिनका नाम रिकी अली और सिक्सी अली है। मृतकों में कुचायकोट के खजुरी निवासी अर्जुन कुमार कुशवाहा, कुचायकोट के बाणी, खजुरी निवासी कृपा यादव और यूपी के पढरौना निवासी (60) वर्षीय मो शमसुद्दीन, विक्रम यादव एवं कन्हैया राय शामिल है। बताया जा रहा है कि जब गन्ने की पेराई का काम चल रहा था तभी बॉयलर टैंक में जाने वाला बॉयलर पाइप फट गया। पाइप के फटने से जबरदस्त धमाका हुआ। इस धमाका से आसपास की कई मशीनें भी क्षतिग्रस्त हो गई।

मुख्यमंत्री ने प्रधान सचिव गन्ना उद्योग श्री एस0 सिद्धार्थ एवं प्रधान सचिव श्रम संसाधन विभाग दीपक कुमार सिंह को स्थल पर जाकर घटना की जांच करने का निर्देश दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *